Home | MEDIA

इसीलिये मैं डॉ वैदिक का प्रशंसक हूँ

डॉ वेद प्रताप वैदिक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्राचीन छात्र हैं. अफगानिस्तान की राजनीति के बारे में उनकी थीसिस थी. हिंदी में ...

एक पत्रकार की कलम से निकली फिल्म ग्लोबल बाबा

उत्तर प्रदेश की पृष्ठभूमि पर बनी हिन्दी फीचर फिल्म ग्लोबल बाबा बन कर तैयार है। फिल्म के अक्तूबर-नवंबर में रिलीज होने की ...

सागरिका सरदेसाई की विदाई
 

सागरिका सरदेसाई की विदाई

सागरिका घोष को कभी उम्मीद नहीं थी कि एक दिन ऐसा भी आयेगा कि उन्हें ऐसा पत्र लिखना पड़ेगा और राजदीप सरदेसाई के लिए यह जिन्दगी का सबसे कठिन पत्र था। लेकिन दोनों ने लिखा और उन्हें भेजा भी जिन्हें भेजने के लिए लिखा था। एनडीटीवी समूह से मामूली से टकराव पर बाहर निकले राजदीप सरदेसाई को उस वक्त सीएनएन-आईबीएन के राघव बहल ने लपक लिया था। सैलेरी नौकरी के साथ साथ कंपनी में पांच परसेन्ट का शेयर भी दे दिया था ताकि हक मालिकाना रहे। लेकिन अब जब कंपनी ही बहल के काबू से बाहर चली गई तो कहां का शेयर और कौन सी पत्रकारिता? पूंजी के प्रभुत्व और विस्तार में ऊंची उठती पत्रकारिता इतने ऊंचे उठ गई कि बहल, सागरिका सरदेसाई सब बाहर हो गये। ... Full story

महापरिषद की बैठक में मौजूद मुख्यमंत्री और कुलपति कुठियाला
 

विरोध के बीच कुठियाला फिर बने कुलपति

भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के निवर्तमान कुलपति बी के कुठियाला एक बार फिर विश्वविद्यालय के कुलपति घोषित कर दिये गये हैं। गुरूवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई महापरिषद की बैठक में उनके दूसरे कार्यकाल को मंजूरी तो मिल गई लेकिन यह मंजूरी निर्विरोध नहीं थी। महापरिषद की बैठक में मौजूद नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे ने उनके नाम का विरोध किया लेकिन विरोध करनेवाले वे अकेले थे लिहाजा एक बार फिर श्री कुठियाला कुलपति नियुक्त कर दिये गये। ... Full story

तरुण तेजपाल को मिली जमानत
 

तरुण तेजपाल को मिली जमानत

तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को सुप्रीम कोर्ट ने रेगुलर बेल प्रदान कर दी है। श्री तेजपाल अपने साथ काम करने वाली एक सहयोगी के साथ छेड़छाड़ के आरोप में बीते छह महीने से अधिक समय से गोवा में बंद में थे। गोवा की स्थानीय कोर्ट, मुंबई हाइकोर्ट द्वारा तेजपाल की जमानत याचिकाएं खारिज होने के बाद आखिरकार उन्होंने नियमित जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट में आवेदन किया था, जिस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने तेजपाल को जमानत दे दी। ... Full story

आशुतोष शुक्ल की इसी रिपोर्ट पर नाराज सरकार अखबार के खिलाफ कार्रवाई कर रही है
 

व्यापम का कहर, पत्रकार को दिया घर खाली करने का आदेश

मध्य प्रदेश में व्यापम घोटाले की आंच जैसे जैसे भड़कती जा रही है मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार अपने स्तर पर डैमेज कन्ट्रोल करने में भी लगी हुई है। ताजा डेवलपमेन्ट यह है कि मध्य प्रदेश सरकार ने व्यापम घोटाले की खबर लिखनेवाले हिन्दुस्तान टाइम्स के पत्रकार आशुतोष शुक्ला को घर खाली करने का नोटिस थमा दिया है। श्री शुक्ला को भोपाल के शिवाजी नगर में सरकारी आवास आवंटित है। ... Full story

राजनीति में हो रही है खबरों की राजनीति
 

राजनीति में हो रही है खबरों की राजनीति

बीते आम चुनाव में मीडिया अब तक आम चुनावों में शायद सबसे महत्वपूर्ण भूमिका में रहा। मीडिया माध्यमोंं में निसंदेह टेलीवीजन सबसे ज्यादा पहुंच और प्रभाव रखता है इसलिए इस बार टीवी चैनलों ने आम चुनाव में बड़ी भूमिका निभाई है। तो क्या इस बड़ी भूमिका के लिए टीवी ने खबरों की राजनीति की? आधुनिक हिंदी टेलीविजन पत्रकारिता के जनक स्वर्गीय सुरेन्द्र प्रताप सिंह की पुण्यतिथि पर दिल्ली में जुटे टेलीवीजन दुनिया के कुछ ख्यातानाम पत्रकारों ने इस मुद्दे पर जमकर मंथन किया। ... Full story

दूरदर्शन पर दिखाई जाएगी 'नॉट माई लाइफ'
 

दूरदर्शन पर दिखाई जाएगी 'नॉट माई लाइफ'

दुनियाभर में हो रहे बच्चों के गैर कानूनी व्यापार पर केन्द्रित फिल्म नॉट माइ लाइफ का प्रसारण आगामी 29 जून को दूरदर्शन पर किया जाएगा। प्रसार भारती द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि जन प्रसारण की जिम्मेदारी निभाते हुए दूरदर्शन पर 29 जून को प्राइम टाइम पर रात 9.30 बजे से किया जाएगा। नॉट माइ लाइफ एक इंटरनेशनल डाक्यूमेन्ट्री फिल्म है जिसका निर्देशन आस्कर नॉमिनी राबर्ट विल्मर ने किया है। ... Full story

इंटरनेट प्राइवेसी के मामले में लीचड़ होते हैं भारतीय
 

इंटरनेट प्राइवेसी के मामले में लीचड़ होते हैं भारतीय

आधुनिक संचार सुविधाओं और इंटरनेट का इस्तेमाल करनेवाले भारतीय उपभोक्ताओं के लिए क्या मायने रखता है? सुविधा या फिर निजता की सुरक्षा? दुनिया भर में भले ही संचार सेवाओं का उपयोग करनेवाले सुविधा से ज्यादा अपनी निजता के सुरक्षा की चिंता करते हों लेकिन पायरेसी के आदी भारतीय उपभोक्ता को प्राइवेसी जैसा शब्द कोई मायने नहीं रखता। ईएमसी स्क्वायर नामक एक डाटा कंपनी ने जब एक सर्वे किया तो पाया कि ज्यादातर भारतीय उपभोक्ता डाटा सुरक्षा जैसी बातों से पूरी तरह अनजान और बेफिक्र हैं। ... Full story

मीडिया जगत के जाहिर जहर जहीर
 

मीडिया जगत के जाहिर जहर जहीर

टीवी पर तो तब भी यह चैनल कभी दिखा नहीं लेकिन उस शो की चर्चा यदा कदा जरूर होती थी जो लेमन टीवी पर प्रसारित होता था। द आरकेबी शो। राजीव कुंवर बजाज का यह आरकेबी शो खुद बजाज साहब ने अपनी तरफ से बहुत चर्चित करवाया था। कुछ वेबसाइट और सोशल मीडिया के जरिए इस तरह प्रचारित करवाया गया था मानों इससे बढ़िया इंटरव्यू का कोई शो आज तक टीवी के इतिहास में प्रसारित ही नहीं हुआ। उस वक्त भी एक दो बार सोशल मीडिया पर इस शो की झलकियां दिखी थीं। बड़े ही बनावटी और दिखावटी अंदाज में इंटरव्यू लिया जाता था। पूरी कोशिश की जाती थी कि आरकेबी के शो को चमत्कारी बना दिया जाए लेकिन न तो शो चमत्कारी हो पाया और न ही वह चैनल जिस पर यह शो प्रसारित होता था। ... Full story

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 next last total: 651 | displaying: 1 - 10
  1. बाढ़ से ज्यादा झूठ का प्रकोप (5.00)

  2. सपा ने रद्द किया आजम खान का निष्कासन (5.00)

  3. अब शुरू हुआ असली खेल (5.00)

  4. आसान नहीं है कश्मीर का समाधान (5.00)

  5. अशोक चव्हाण ने इस्तीफा दिया, कलमाड़ी हटाये गये (5.00)

find us on facebook
follow us on twitter

Featured author

Kailash Satyarthi

Kailash Satyarthi

अस्सी के दशक में अपने निजी कैरियर को छोड़कर बंधुआ मजदूरी में कैद बच्चों के लिए अपना जीवन समर्पित कर देनेवाले कैलाश सत्यार्थी अब तक अस्सी हजार से अधिक बच्चों को बंधुआ मजदूरी से मुक्त करा चुके हैं। सामाजिक कार्यकर्ता और बचपन बचाओ आंदोलन के संस्थापक अध्यक्ष कैलाश सत्यार्थी को पुरस्कारों से अधिक पीड़ा मिली है फिर भी बेहतर भविष्य के लिए उनकी ओर से किये जा रहे प्रयास जारी हैं. वे दुनिया की कई प्रतिष्ठित संस्थाओं के सदस्य होने के साथ ही संयुक्त राष्ट्र संघ की शिक्षा पर बनी समिति के भी सदस्य हैं.