कृपया प्रतीक्षा करें, आप कतार में हैं

एनसीआर क्यू फ्रस्टेशन सर्वे नामक एक सर्वेक्षण में यह बात उभरकर सामने आयी है कि शहरों में रहने वाले 85 प्रतिशत लोग लाईन में लगने से दुखी है. इन 85 प्रतिशत लोगों में एक चौथाई धैर्य नहीं रख पाते और अपने सेवा प्रदाता से पीछा छुड़ा लेते हैं.
सबसे अधिक लोग बैंकों में लगनेवाली कतारों से दुखी हैं. इसके बाद टिकट के लिए लाईन में लगनेवाले लोगों का नंबर आता है. 27 फीसदी लोग बिल भरने के लिए लगनेवाली लाईनों से आजिज आ चुके हैं. और तो और शापिंग माल और हवाई जहाज में भी कतारें लगनी शुरू हो गयी हैं. इस सर्वे में शामिल 4 प्रतिशत लोगों ने माना कि शापिंग माल में लगनेवाली कतारों से वे आजिज आ चुके हैं. फिर भी शापिंग माल जाते हैं.
इस सर्वेक्षण का कहना है कि हर तरह की सेवा के लिए लाईन में लगने के लिए सबसे ज्यादा मुंबई के लोग अभिशप्त हैं. वैसे भी मुंबई के बारे में यह कहावत मशहूर है कि यहां मरने के लिए भी लाईन में लगना पड़ता है. सबसे दुखद स्थिति तब होती है जब शहर की तमाम झोपड़पट्टियों और चालों में नित्यकर्म के लिए भी लाईन लगानी पड़ती है. यहां के 96 फीसदी लोग लाईन लगाते-लगाते आजिज आ चुके हैं. इसके बाद 94 प्रतिशत के साथ चेन्नई, 82 प्रतिशत कोलकाता, 80 प्रतिशत बैंगलोर के लोग लाईन लगाकर परेशान हैं. सर्वे कहता है कि दिल्ली के लोग सबसे कम 76 प्रतिशत लोग लाईन में लगने से परेशान हैं. भैया दिल्ली के लोग लाईन में लगते कहां हैं, सात साल से मैं इस शहर में हूं आज तक रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट छोड़कर कहीं लाईन बनते नहीं देखा.
सर्वे कहता है कि इन लाईनों के कारण 64 फीसदी लोग प्रति सप्ताह अपना 50 मिनट बर्बाद करते हैं. लाईनों में लगने के कारण 60 प्रतिशत लोग तनाव के शिकार हो जाते हैं, 23 प्रतिशत लोगों अपने कई महत्वपूर्ण कार्यों का नुकसान करते हैं, 22 प्रतिशत लोग लड़ना-झगड़ना शुरू कर देते हैं और 26 प्रतिशत लोग अपने सेवा प्रदाता को बदल देते हैं. एक बात और, इस सर्वे में 1782 लोगों को शामिल किया गया जिनकी उम्र 25 से 45 साल के बीच हैं.

One thought on “कृपया प्रतीक्षा करें, आप कतार में हैं

  1. हम आपकी टिप्पणी लाइन में सबसे पहले लग लिये।

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s