और खबर फैल गयी

प्रभाष जोशी

लाईव इंडिया के रिपोर्टर प्रकाश सिंह हवालात में हैं. “निर्भीक प्रहरी” की रिपोर्टर रश्मि सिंह भी जेल की हवा खाकर लौट आयी हैं. पुलिस साप्ताहिक और चैनल के खिलाफ सावधानी से जांच करते हुए आगे बढ रही है. कह सकते हैं भंडाफोड़ करने के लिए बनाये गये स्टिंग आपरेशन का ऐसा भंडाफोड़ हुआ है कि इसे चलानेवाले अब मुंह छिपाते घूम रहे हैं. उमा खुराना के बारे में न्यायाधीश ने कहा कि उमा खुराना अपराधी नहीं अपराधियों की करतूत की शिकार हुई लगती हैं. इसिलए वे मुचलके पर छूटकर बाहर आ गयी हैं.

अब पता चला है कि लाईव इंडिया के रिपोर्टर ने स्टिंग जो छात्रा दिखाई है वह एक पत्रकार है नोएडा से निकलनेवाले एक साप्ताहिक समाचारपत्र निर्भिक प्रहरी की संवाददाता है. पत्रकारिता में तेजी से ऊपर पहुंचने के लिए उसने प्रकाश सिंह के कहने पर यह सब किया. बिहार से दिल्ली पत्रकारिता करने आयी रश्मि सिंह वह लड़की बन गयी जिसे उमा खुराना किसी ग्राहक को सौंप रही हैं. पुलिस ने जांच-पड़ताल में जो पता किया है उससे यह मामला पत्रकारिता का है ही नहीं. दरअसल एक छोटे व्यापारी वीरेन्द्र अरोड़ा का रचा गया षण्यंत्र है. पूर्वी दिल्ली में चिटफंड का छोटा-मोटा धंधा करनेवाले अरोड़ा ने शिक्षिका को पैसे उधार दिये थे. डेढ़ लाख की वसूली नहीं हो पा रही थी इसलिए उसे बदनाम करवाने के लिए वह स्टिंग करवाना चाहता था. उसने एक दो चैनलों के रिपोर्टरों से इस सिलसिले में बात की.

स्टिंग में कुछ ऐसा दिखाना था जिससे यह लगे कि उमा खुराना वैश्यावृत्ति के धंधे में शामिल हैं. कम से कम तीन चैनलों को इस पेशकश की जानकारी थी. प्रकाश सिंह तब आईबीएन-7 में थे जब अरोड़ा ने उनसे संपर्क किया था. दोनों ने मिलकर तय किया कि वे इस खबर पर काम करेंगे. प्रकाश सिंह भी रातों-रात स्टार पत्रकार बनने की हसरत पाले हुए था. उसने इसी दौरान रश्मि सिंह से भी बात की. और रश्मि सिंह भी अच्छी नौकरी की आस में तैयार हो गयी. इस तरह एक स्टिंग हो गया और उमा खुराना को पर्दे पर स्कूली छात्राओं से देह व्यापार करनेवाला साबित कर दिया गया.

यह खबर आईबीएन सेवेन के लैब में संपादित हुई. सीडी तैयार थी और पता नहीं क्यों उसे दिखाने से मना कर दिया गया. प्रकाश सिंह को लगा उसका सपना चकनाचूर होने जा रहा है. उसने चैनल छोड़ दिया. कारण शायद कुछ और भी रहे होंगे. लेकिन वह लाईव इंडिया में आ गया. उसको काम करते हुए महीनाभर भी नहीं बीता होगा कि यह खबर सबके सामने आ गयी. स्टिंग के टेप में कहीं वीरेन्द्र अरोड़ा ने उन्हें फोन करके लड़की का इंतजाम करने को कह रहे हैं और उमा खुराना “करती हूं” जैसी कोई बात कहते हुए सुनाई पड़ती हैं. हालांकि पुलिस खुद ही यह कहती है कि सीडी में आवाज और दृश्य दोनों के साथ छेड़छाड़ हुई है. अब उस सीडी की प्रयोगशाला में जांच होगी. मामले की जांच-पड़ताल चल रही है.

(प्रथम प्रवक्ता में प्रकाशित रपट का संपादित अंश)

One thought on “और खबर फैल गयी

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s