यह देखिए एक लाख की कार

रतन टाटा अपनी एक लाख रूपये की कार के साथ. यह दुनिया की सबसे सस्ती कार है. आटो एक्सपो 2008 में टाटा के चेयरमैन रतन टाटा ने ‘नैनो’ को पेश किया. उन्होंने बताया कि इस कार में सुरक्षा और पर्यावरण की सभी मानकों का ध्यान रखा गया है. रतन टाटा ने इसे ‘पीपुल्स कार’ बताते हुए इसे आम लोगों की पहुँच में बताया. उन्होंने बताया कि इस कार की डीलर प्राइस एक लाख रुपए होगी.

उन्होंने कहा, ”वादा तो आख़िर वादा होता है इसलिए इसकी क़ीमत तय वादे के तहत रखी गई है.”
नैनो की ख़ासियत गिनाते हुए उन्होंने बताया कि इस कार में चार-पाँच लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी. रतन टाटा ने कहा, “मैंने अक्सर देखा है कि बहुत से परिवार दो-पहिया वाहन पर किस तरह से मुश्किलों में सफ़र करते हैं. एक व्यक्ति स्कूटर चला रहा होता है, उसका एक बच्चा उसके आगे हैंडल के पास खड़ा होता है, उसकी पत्नी पिछली सीट पर बैठी होती है और उसकी गोद में एक छोटा बच्चा होता है. बस यही देखकर मेरे मन में विचार आया कि क्या इस तरह का कोई वाहन हो सकता है जो ग़रीब परिवारों की आयदर के भीरत हो और जो इस तरह के परिवारों को तरह-तरह के मौसमों में सुरक्षित सफ़र मुहैया करा सके.”

क्या है इस कार में?
कार का इंजन 624 सीसी का होगा, जो कार के पीछे होगा और ये एक लीटर में कार 20-22 किलोमीटर का माइलेज देगी. प्रदूषण और पर्यावरण मानकों के सवाल पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि नैनो कार यूरो-4 मानक की होगी, इसलिए पर्यावरणविद आरके पचौरी और सुनीता नारायण को चिंता नहीं करनी पड़ेगी. उन्होंने बताया कि कार में एसी लगाने का विकल्प होगा, और ये फिलहाल लाल, पीले और सिल्वर रंगों में इस साल ही उपलब्ध हो जाएगी. जानकारों का मानना है कि इस कार के आने से कार बाज़ार में खलबली मच जाएगी. हालांकि इस कार को लेकर कई अटकलें लगाई जा रही थीं.

टाटा मोटर्स ने अपनी कार से जुड़ी हर बात के लिए बेहद गोपनीयता बरती थी. ये कार कैसी होगी, इसकी क़ीमत एक लाख कैसे रखी जाएगी, इस संबंध में टाटा ने क्या किया है, ये सब तथ्य पूरी तरह से गोपनीय रखे गए थे. कंपनी के चेयरमैन रतन टाटा ने उम्मीद जताई कि इस कार के आने के बाद लोगों को ज़िंदगी सुविधाजनक और सुरक्षित हो जाएगी. (खबर के कुछ हिस्से बीबीसी हिन्दी से, फोटो साभारः एएफपी)

2 thoughts on “यह देखिए एक लाख की कार

  1. कारों के बाज़ार में नया सेगमेंट जुड़ जाएगा। स्कूटर और मोटरसाइकिल पर परिवार को लादकर चलने वालों को राहत और सुरक्षा मिलेगी। अच्छा है और क्या कहें!!!

    Like

  2. ….. और मेरे जैसे लोग शान बघारते हुए कह सकेंगे कि जितने की एक चौ-पहिया गाड़ी आती है उतने की तो हम मोटरसाइकल चलाते हैं!! ही ही ही 😀

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s