सायरस को टाटा

​सपूरजी पलोनजी एण्ड कंपनी टाटा समूह में सबसे बड़ी निजी शेयरधारक कंपनी है। नौ परसेन्ट से ज्यादा शेयर सपूरजी पलोनजी के पास है। टाटा घराने की तरह ये भी पारसी परिवार है और देश के बड़े ठेकेदारों में इनका नाम आता है। सायरस मिस्त्री इसी परिवार से संबंध रखते थे और शायद पहली बार हुआ कि टाटा खानदान से अलग किसी व्यक्ति को टाटा की कमान सौंपी गयी। लेकिन बात बनी नहीं इसलिए एक बार फिर कमान टाटा खानदान के हाथ में आ गयी है। 

रतन टाटा अब बुजुर्ग हो चुके हैं इसलिए चार महीने के भीतर नया वारिस खोजा जाएगा। संभवत: इस बार नोएल टाटा को मौका मिले। या फिर टाटा घराने से ही किसी को चुना जाए क्योंकि टाटा सन्स का 66 फीसदी शेयर टाटा घराने के ही पास है। अब सवाल उठता है कि टाटा सन्स का 66 फीसदी शेयर अगर टाटा खानदान के पास है तो फिर शपूरजी पलोनजी सबसे बड़े शेयरधारक कैसे हुए? 

इसका राज यह है कि टाटा के ज्यादातर शेयर टाटा समूह से जुड़े ट्रस्ट के पास हैं। 66 फीसदी शेयर में 50 फीसदी शेयर सिर दो ट्रस्ट के पास हैं। सर रतन टाटा ट्रस्ट (वर्तमान रतन टाटा के दादा के नाम पर बना ट्रस्ट) और सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट। इसके अलावा और कई दूसरे ट्रस्ट हैं जो टाटा सन्स का शेयर रखते हैं। टाटा खानदान के वारिशों के पास बहुत कम शेयर हैं। 

टाटा के कारोबार का यह बहुत अनोखा तरीका है। आप सोचिए कि कैसा बिजनेस मॉडल है यह जहां कारोबार का पैसा किसी की जेब में मुनाफा बनकर नहीं जाता बल्कि कर्मचारियों की तनख्वाह, कारोबार के खर्चे काटकर जो मुनाफा बचता है वह समाज को वापस कर दिया जाता है। सर रतन टाटा ट्रस्ट और सर दोराबजी ट्रस्ट शिक्षा, समाजसेवा, विज्ञान और तकनीकि के साथ साथ पर्यावरण, कला, संस्कृति के क्षेत्र में सैकड़ों परियोजनाओं को मदद करते हैं। दूसरी कंपनियों की तर्ज पर इसे सीएसआर बताकर इसका प्रचार नहीं किया जाता बल्कि चुपचाप लोगों की बेहतरी के लिए खर्च कर दिया जाता है।

शायद निजी मुनाफे की पृष्ठभूमि से आये सायरस मिस्त्री यह बात समझ नहीं पाये और दो साल में ही विदा हो गये।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s