जाली खबरों का मायाजाल

भारत में आम चुनाव हो रहे हैं और इन आम चुनावों में सिर्फ नेता, दल और मीडिया से जुड़े लोग ही व्यस्त नहीं हैं। एक और वर्ग है जो चुनाव में पर्दे के पीछे से अपनी हिस्सेदारी कर रहा है। वह है जाली खबरों का कारोबारी। जाली खबर या फिर बहुत प्रचलित भाषा में कहें … Continue reading जाली खबरों का मायाजाल

दलित आरक्षण पर ओबीसी पहरा

देश में दलित आरक्षण की पहरेदारी का जिम्मा ओबीसी नेताओं और चिंतकों ने अपने हाथ में ले लिया है। असल में उन्होंने दलितों के आरक्षण की चिंता अपने हाथ में नहीं लिया। वो एक नये राजनीतिक समीकरण पर काम कर रहे हैं जिसमें दलितों को ओबीसी नेताओं के पीछे चलाया जा सके। न लालू यादव … Continue reading दलित आरक्षण पर ओबीसी पहरा

श्रीलंका में तौहीद जमात का तांडव

रविवार को कोलंबो में जगह जगह चर्चों में ईसाई ईस्टर त्यौहार मनाने के लिए इकट्ठा हुए थे। लेकिन यह त्यौहार का दिन मातम में बदल गया। श्रीलंका में हुए अलग अलग 6 बम धमाकों/आत्मघाती हमलों में 290 से अधिक लोग मारे गये और करीब पांच सौ लोग गंभीर रुप से घायल हैं। श्रीलंका में लिट्टे … Continue reading श्रीलंका में तौहीद जमात का तांडव

दलित ओबीसी जातियों पर मोदित्व का दांव

अभी हाल में ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आया एक विडियो खूब चर्चित हुआ। वीडियो बनानेवाला नौजवान एक स्थानीय जाटव नेता से विकास को लेकर सवाल करता है क्या सचमुच हरिजन बस्तियों में मोदी की योजनाओं का लाभ मिला है। नेता जी रटा रटाया सा जवाब देते हैं कि बस्ती में कोई काम नहीं हुआ … Continue reading दलित ओबीसी जातियों पर मोदित्व का दांव

मदनी और मसूद अजहर एक हैं

यहां मैं दो फोटो आपके सामने रख रहा हूं। एक है जमीयत-ए-उलमा-ए- हिन्द का चीफ मौलाना महमूद मदनी और दूसरा है पाकिस्तान का मौलाना मसूद अजहर जिसे भारत अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करवाने के लिए संयुक्त राष्ट्र पहुंचा हुआ है। अब सवाल ये है कि ये दो फोटो मैं आपको क्यों दिखा रहा हूं और दोनों … Continue reading मदनी और मसूद अजहर एक हैं

गेस्ट हाउस कांड अर्थात मायावती की मॉब लिंचिंग

आजकल मॉब लिंचिंग पर बहस करना फैशन है और अखिलेश यादव द्वारा इसका विरोध करना भी। लेकिन उस समय तक किसी कम्युनिस्ट ने राजनीति के लिए इस शब्द का आविष्कार नहीं किया था। लेकिन आज अपनी प्रेस कांफ्रेस में मायावती ने जिस गेस्ट हाउस कांड का जिक्र किया वह स्वतंत्र भारत की राजनीति में पहली … Continue reading गेस्ट हाउस कांड अर्थात मायावती की मॉब लिंचिंग

कम्युनिस्ट मुक्त कांग्रेस

पिछले हफ्ते की बात है। दिल्ली के संविधान क्लब में नेहरू पर एक किताब का लोकार्पण था। लोकार्पण क्या था साम्यवादियों की सभा थी। आयोजनकर्ता साम्यवादी, उपस्थित स्रोता और पत्रकार ज्यादातर साम्यवादी। हालांकि लेखक ने मंच से स्वयं को नेहरुवादी घोषित किया, और यह भी बताया कि उसकी शुरुआती पढ़ाई शिशु मंदिर से हुई है। … Continue reading कम्युनिस्ट मुक्त कांग्रेस