भारत की कहानी

नाम में क्या रखा है?

बख्तियार खिलजी अफगान था और एक तुर्क सुल्तान कुतुबद्दीन ऐबक का सेनापति भी। उसने सुल्तान के आदेश पर उत्तर पूर्व भारत में सैन्य लूट का सिलसिला आरंभ किया। इसी लूट पाट और नरसंहार के क्रम में आगे बढ़ते हुए वह नालंदा और विक्रमशिला विश्वविद्यालय पहुंचा। उसने देखा कि इन विश्वविद्यालयों में तो काफिरों की विद्या… Continue reading नाम में क्या रखा है?

भारत की कहानी

हरियाणा का मिनी पाकिस्तान: मेवात

देश की राजधानी दिल्ली से मात्र 60 किलोमीटर की दूरी पर है मेवात । गुड़गांव से अलवर के रास्ते आगे बढ़ने पर सोहना के बाद मेवात का इलाका शुरू हो जाता है। मेवात एक मुस्लिम-बहुल इलाका है। यहां मेव मुसलमानों का दबदबा है। मेव पहले हिन्दू ही थे। मेव एक जाति है। अभी भी कुछ… Continue reading हरियाणा का मिनी पाकिस्तान: मेवात

भारत की कहानी

रेलवे का नया कोनकोर्स

कोनकोर्स भारतीय रेलवे के लिए नया शब्द है। हमारे लिए भी। लेकिन ये शब्द है क्रांतिकारी। सिर्फ एक इसी शब्द ने भारतीय रेलवे स्टेशनों के बदलाव की बुनियाद रख दी है। क्या होता है ये कोनकोर्स? कोनकोर्स या कॉनकार्स प्लेटफार्म से अलग वह हिस्सा होता है जहां आप ट्रेन में चढ़ने से पहले पहुंचते हैं।… Continue reading रेलवे का नया कोनकोर्स

भारत की कहानी

फेल क्यों हो गयी तेजस एक्सप्रेस?

देश की पहली तेजस एक्सप्रेस फेल हो गयी है। उसे सवारी नहीं मिल रही है। ११०० यात्रियों की क्षमता होने के बावजूद इन दिनों वह पचास सौ यात्रियों को लेकर मुंबई से गोवा जाती है और गोवा से वापस मुंबई आती है। बहुत धूमधाम से शोर शराबे के बीच जिस तेजस ट्रेन को चलाया गया… Continue reading फेल क्यों हो गयी तेजस एक्सप्रेस?

भारत की कहानी

कम्युनिस्ट गुंडों और एनडीटीवी ने मिलकर बिगाड़ा बीएचयू का माहौल

बनारस के काशी हिन्दू विश्वविद्यालय कैम्पस में छेड़छाड़ का विरोध कर रही लड़कियों पर कल देर शाम लाठी चार्ज करके तितर बितर करने की खबर से सोशल मीडिया सकते में है। लेकिन अब जैसे जैसे दिन चढ़ रहा है नयी हकीकत भी सामने आ रही है। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से जुड़ी छात्राएं ही नये नये… Continue reading कम्युनिस्ट गुंडों और एनडीटीवी ने मिलकर बिगाड़ा बीएचयू का माहौल

भारत की कहानी

35 ए को पलट दो

कश्मीर में आतंकवाद को खत्म करने के लिए जरूरी है कि वहां के नागरिकों को विकास की मुख्यधारा का हिस्सा बनाया जाए। कश्मीर का विकास तब तक नहीं हो सकता जब तक यह कानूनी धाराएं मौजूद रहेंगी जो निवेशक को वहां निवेश करने से रोकती हैं। और जब तक कश्मीर में सामान्य पूंजी निवेश नहीं होता कश्मीर के हालात कभी नहीं बदलेंगे।

भारत की कहानी

​आहत हुई कश्मीरियत

राजनाथ सिंह के कश्मीरियत वाले बयान पर फेसबुकियत भले हावी हो गयी हो लेकिन हकीकत यही है कि इस बार कश्मीर में हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमले के खिलाफ कश्मीर खड़ा हो गया था। यह वही कश्मीर है जो २००८ में अमरनाथ श्राइन बोर्ड को जमीन देने के खिलाफ सड़कों पर उतर आया था और हफ्तों… Continue reading ​आहत हुई कश्मीरियत