हवा में उड़नेवाली ट्रेन

जापान के शहर टोक्यो से नागोया की दूरी ३४६ किलोमीटर है। अगर आप इस दूरी को पैदल पूरा करना चाहें तो ७२ घण्टे का समय चाहिए। सड़क से जाना चाहें तो पांच से छह घण्टे। ट्रेन से जाना चाहें तो डेढ़ घंटे और हवाई जहाज से जाना चाहें तो एक घण्टे का समय लगता है। … Continue reading हवा में उड़नेवाली ट्रेन

लब्बैक या रसूल अल्लाह

पिछले साल दिवाली के मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ कराची गये थे। कराची में उन्होंने हिन्दुओं की एक दीवाली मिलन समारोह को संबोधित किया जिसमें उन्होंने कहा था कि "जन्नत और दोजख के फैसले करनेवाले हम कौन होते हैं? यह फैसला तो उस परवरदिगार के हाथ में है।" यह कहकर उन्होंने हिन्दुओं के … Continue reading लब्बैक या रसूल अल्लाह

बदली विश्व मानसिकता का शिकार हुए रोहिंग्या

पहले तो यह मानिए कि रोहिंग्या मुश्किल में हैं। सचमुच उन पर आपदा आई हुई है। बूढे, बच्चे, औरतें कई कई किलोमीटर पैदल चलकर, नदी पारकर बांग्लादेश पहुंच रहे हैं। न रहने का ठिकाना, न खाने का और न आगे जाने का। वो बस निकल पड़े हैं, कहां पहुंच जाएंगे कुछ पता नहीं। लेकिन उनकी … Continue reading बदली विश्व मानसिकता का शिकार हुए रोहिंग्या

भारत के लिए बुलेट ट्रेन कितना जरूरी है?

14 सितंबर को गुजरात में साबरमती से मुंबई के बीच पहली बुलेट ट्रेन के भूमिपूजन के साथ ही एक सवाल खड़ा किया जाने लगा है कि जहां रेलवे की दशा ठीक नहीं है वहां एक लाख करोड़ खर्च करके पांच सौ किलोमीटर के लिए बुलेट ट्रेन बनाने का क्या तुक है? यह सवाल ज्यादातर वो … Continue reading भारत के लिए बुलेट ट्रेन कितना जरूरी है?

बुलेट ट्रेन के बहाने हुई मोदी फड़नवीस में गुजराती मराठी की जंग

गुजरात और महाराष्ट्र की ऐतिहासिक लड़ाई एक बार फिर उभर आयी है। इस बार मुद्दा भले ही बुलेट ट्रेन को महाराष्ट्र सरकार द्वारा दी जानेवाली जमीन हो लेकिन यह सिर्फ हाथी के दिखानेवाले दांत हैं। असल मुद्दा कुछ और है जिसके कारण मोदी और फणनवीस के बीच लंबी खींचतान के बाद आखिरकार बुलेट ट्रेन के … Continue reading बुलेट ट्रेन के बहाने हुई मोदी फड़नवीस में गुजराती मराठी की जंग

लद्दाख में लव जिहाद

केरल के बाद अब भारत के एकमात्र बौद्ध बहुल क्षेत्र लद्दाख से लव जिहाद की खबरे आ रही हैं। लद्दाख में योजनापूर्वक ढंग से बौद्ध लड़कियां लव जिहाद का शिकार बनायी जा रही हैं ताकि लद्दाख को भी मुस्लिम बहुल क्षेत्र बनाया जा सके। टाइम्स आफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक इस संबंध में … Continue reading लद्दाख में लव जिहाद

ब्रिक्स में भारत की बड़ी जीत

ब्रिक्स डिक्लेरेशन में जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा का नाम आना काम कर गया। इसलिए नहीं कि भारत ने नाम लिया बल्कि इसलिए कि रूस और चीन ने इस पर अपनी सहमति दे दी। अब पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने माना है कि हमारी धरती पर ये आतंकी संगठन सक्रिय हैं … Continue reading ब्रिक्स में भारत की बड़ी जीत