वह भोड़सी का संत

अब जाटभूमि भोड़सी में भोजपुरी नहीं सुनाई देगी. क्योंकि भोड़सी की पहाड़ियों को भोजपुरी से तर रखने वाले पूर्व प्रधानमंत्री श्री चंद्रशेखर अब इस दुनिया में नहीं है. अब भोड़सी जाने पर न भोजपुरी सुनाई देगी और न ही उस खुरपे की खपर-खपर सुनाई देगी जिन्हें चंद्रशेखर खुद अपने हाथ में लिये यहां-वहां खर-पतवार निकालते … Continue reading वह भोड़सी का संत